भाषा का चयन करे: हिंदी | मराठी
होम  |   हम हमारे लिये  |  सहाय्य  |  बाहरी संदर्भ
बुद्धी को गती देना

जैसे जैसे उम्र बढती है और व्यावसायिक काम कम होने लगते है वैसे दिमाग को मिलनेवाली खुराक भी कम होने लगती है | इसके कारण विस्मरण, अल्झायमर या इसी तरह की बीमारियां पीछे पड जाती है | ऐसे समय बुद्धी को गती देना आवश्यक हो जाता है | विभिन्न बौद्धिक खेलों के कारण बुद्धी को गती तो मिलती ही है लेकिन मनोरंजन भी होता है और समय कैसे बीतता है इसका पता भी नही चलता | इस तरह की नये नये अवसर हर समय उपलब्ध होते है | कुछ अवसर ऑनलाईन उपलब्ध होते है |


Disclaimer | Privacy Policy
Contents, creation and hosting by © 2018, The Abweb